'इंडियन बॉय राइट्स' का जन्म 'लिनेयशा केअर इंडिया' के सी0 एस0 आर0 के अंतर्गत सामाजिक जिम्मेदारिओं के निर्वाह के लिए हुवा है।

'लिनेयशा केअर इंडिया' के मैनेजिंग वर्कर सह केअर टेकर 'श्री राहुल दयाल' अपने दस वर्षों के डिजाइनिंग, गारमेंट मैन्युफैक्चरिंग और गारमेंट एक्सपोर्ट के उतार चढाव भरे कैरियर के बाद आदरणीया मदर टेरेसा कि कर्मस्थली और हिंदुस्तान का एक ऐतिहासिक और पावन स्थल 'पश्चिम बंगाल' से अपने और अपने परिवार कि जरुरी जिम्मेदारियों को निभाने के लिए अपने प्रथम पुत्री 'लिनेयशा दयाल' के नाम से 'हाउसकीपिंग एंड फैसिलिटी मैनेजमेंट' कार्य के लिए व्यावसायिक संस्था 'लिनेयशा केअर इंडिया' का निर्माण किया।

इससे मिले अनुभवों, इसमें सम्मिलित वर्करों के कार्यप्रणाली और तात्कालिक सरकारी निति साथ हीं इसकी अच्छायिओं और खामियों के बदौलत, इस कार्य का एक अहम् हिस्सा कचरा कि उत्पत्ति और इसका निस्तारण साथ में व्यावसायिक जिम्मेदारियों कि वजह से देश के कई राज्यों के दौरों से प्राप्त अनुभवों के आधार पर। पारिवारिक संरचना, परिस्थितियों और निजी जीवन के कई कड़वे अनुभव जहाँ धन और सही जानकारी के आभाव में कई अपनों को खोने और जीवन के सच्चाई से साक्षात्कार होने के बाद, इस प्रण के साथ कि अपने अनुभवों के आधार पर किसी अन्य कि जिंदगी में खुशियां लाने कि यथासम्भव प्रयास करेंगे, 'श्री राहुल दयाल' ने अपने छोटी पुत्री 'इंडिआना दयाल' के नाम से 'इंडियन बॉय राइट्स' कि एक सकारात्मक सोच कि सुरुवात कि है।